Dr Babasaheb Ambedkar Jayanti क्या है और क्यों मनाते है?

Dr Babasaheb Ambedkar Jayanti क्या है और क्यों मनाते है ?

Dr.Babasaheb Ambedkar Jayanti and celebrate2019
14 अप्रैल ये भारतीय संविधान केशिल्पकार डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर का जन्मदिन है और एक प्रमुख भारतीय त्योहार और उत्सव  है। यह त्यौहार भारत के साथ दुनिया भर में मनाया जाता है  यह सामाजिक, धार्मिक और सांस्कृतिक प्रकृति का त्योहार है।

Dr Babasaheb Ambedkar Jayanti क्या क्या  किया जाता है?

भारत के कई राज्यों में इस दिन सार्वजनिक अवकाश होता है। इस दिन, डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर को  सभी क्षेत्रों से  अभिवादन किया  जाता  है।
आंबेडकरवादी  बौद्ध लोग इस दिन को समता दिन और ज्ञान दिनके रूप में मनाते हैं, क्योंकि बाबासाहेब आंबेडकर को समानता का प्रतीकऔर ज्ञान का प्रतीकमाना जाता है।

डॉ बाबासाहेब आंबेडकर की पहली जयंती 14 अप्रैल 1928 को सदाशिव रणपिसे द्वारा पुणे में मनाई गई थी।रणपिसे बाबासाहेब आंबेडकर के अनुयायी थे। उन्होंने बाबासाहेब की जयंती की प्रथा शुरू की और बाबा साहब की प्रतिमा हाथी के अम्बारी  में रखकर  और रथों और ऊंटों के कई जुलूस निकाले थे ।
Dr.Babasaheb Ambedkar Jayanti and celebrate HINDI2019
Dr Babasaheb Ambedkar  के प्रत्येक जन्मदिन पर उनके अनुयायी उन्हें जन्म स्थान, भीम जन्मभूमि, महू (मध्य प्रदेश), दीक्षाभूमि, चैती भूमि, अन्य संबंधित स्थानों, सार्वजनिक स्थानों, गांवों, स्कूलों और कॉलेजों, दुनिया भर के कई बौद्ध तीर्थयात्रि  अभिवादन करने के लिए एक साथ आते हैं। 

आंबेडकर जयंती दुनिया के 65 से अधिक देशों में मनाई जाती है।नई दिल्ली, हर साल,भारत के राष्ट्रपति,उपराष्ट्रपति,प्रधानमंत्री,केंद्रीयमंत्री,
लोकसभापति,राज्यपाल,अन्य मंत्रियों और सभी राजनीतिक दलों के नेताओं और आंबेडकरवादी जनता  बाबासाहेब को अभिवादन कर श्रद्धांजलि देते है.

भारतीय बौद्ध  धर्मीय  बुद्ध विहार  और अपने घरोंमे आंबेडकर की मूर्ती को सामने रखते हुए त्रिवार वंदन करते हैं। इसदिन विभिन्न सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, और खुशी के साथ नृत्य करते हुवे जुलूसनिकाला जाता हैं।


Dr.Babasaheb Ambedkar Jayanti and celebrate

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *