मोहसीन शेख से लेकर तबरेज अंसारी तक क्या यह सही में लिचींग है ?

आज तक जीतने भी लिचींग हुवे है मोहसीन शेख से लेकर तबरेज अंसारी (Tabrez Ansari)तक क्या यह सही में  लिचींग है ?

from-mohsin-sheikh-to-tabrez-ansari-is-it-moblinchig


 मै नही मानता यह लिचींग(moblinchig) हैः मै ईसे पाँलिटीकल मर्डर मानता हु ! जी हाँ पाँलिटीकर मर्डर कीसने कीया और क्यु कीये जा रहे यह मर्डर!

दलित मुस्लिम पिछडे लोगो डराने के खातीर,  हक्क और सच्चाई की आवाज दबाने के खातीर, यह एक रचा हुवाँ जाल हैं ,

 जी हाँ बहोत पुरानी रची हुई साजीश के तहेत एक चाल हैं! जी हाँ यह RSS  और BJP की साजीश हैं यह,

 हाँ भाईयो BJP खुद यह करवा रही हैं, ईन्हे पता है अगर  दलित मुस्लिम पिछडा वर्ग अगर एक होकर BJP और RSS खिलाफ मैदान में  ऊतरे तो ईन्हे कामयाबी हासील नही हो पायेंगी !

Mohsin Shaikh se lekar Tabrez Ansari tak Kya ye sahi me Mobliching hai ?


और ईनके खीलाफ सिर्फ यही लोग अपनी छाती ताने सच्चाई से लढते रहेंगे ! जो ईन्हे ना पसंद हैं,

 ईसिलिये ईन्होने अलग अलग जगह दलित मुस्लिम और पिछडो पर अत्याचार करना शुरू कीया,

 और लीचींग का नाम दे कर पाँलिटीकल मर्डर करवा रहे हैः और जब हमे कानुनी तरीके से भी  इंन्साफ ना मीला तो हम ईनके आगे झुक जाये ! 

और फीर ईनका कहना मान अपने आप को ईनका गुलाम बना कर रखे ! यह BJP और RSS की सोची समजी हुई बहोत बडी साजीश हैं , 
जावेद शेख – बिबवेवाडी पुणे )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *